Home / BANK / Joint Bank Account प्रकार और फायदे -नुकसान

Joint Bank Account प्रकार और फायदे -नुकसान

Joint account को हिंदी में संयुक्त खाता कहते है ,इसका मतलब है बैंक में खोला गया ऐसा एकाउंट , जिसको एक साथ दो या उससे अधिक व्यक्ति handling कर सकते है ।यह सेविंग या करंट खाता हो सकता है ।

RBI के नियम के अनुसार किसी भी joint account को एक से ज्यादा खाताधारक इस्तेमाल कर सकते हैं। RBI ने इसके लिये अधिकतम खाताधारकों की संख्या घोषित नही की है । लेकिन बैंक अपनी काम काज की सहूलियत के लिए ,अपने स्तर पर एक खाते पर चार से ज्यादा खाता धारक को नही जोडती है।

Types of joint account in india

joint account खाते खोलते समय, हमें पता होना चाहिए कि हमारे लिए कौन सा Joint account सबसे अच्छा रहेगा ,क्योंकि अपने देश में अलग-अलग उद्देश्यों के लिए विभिन्न प्रकार के Joint account की सुविधा उपलब्ध हैं।
joint account के प्रकार :-
1)Either or Survivor
2)Anyone or Survivor
3)Former or Survivor
4)Latter or Survivor
5)Minor Account

1)Either or Survivor:

यह अपने देश में खोला जाने वाला सबसे अधिक और प्रसिद्ध joint account है। इस प्रकार के joint account में दो व्यक्ति मिलकर खाता खोलते है और उनमें से दोनों हीं ,खाता को संचालित कर सकते है। उदाहरण के लिए यदि पति और पत्नी ने मिलकर Either or Survivor ऑप्शन के साथ joint account खुलवाया है , तो पति और पत्नी दोनों में से कोई भी खाता संचालित कर सकता है। उनमें से किसी एक की मौत होने पर, जीवित धारक या तो खाता जारी रख सकता है या शेष राशि और ब्याज को अपनी पसंद के अनुसार हस्तांतरित कर सकता है।
यदि joint account में किसी व्यक्ति को Nominee बनाया गया है, तो दोनों धारकों की मौत के बाद, Nominee व्यक्ति को शेष राशि और ब्याज प्राप्त होगा ।

2)Anyone or Survivor:

Anyone or Survivor ऑप्शन के साथ joint account तब खोला जाता है ,जब दो से अधिक व्यक्ति मिलकर joint account खुलवाते है ।जैसे की पिता, माता और पुत्र का joint account।इस joint account के बाकी feature भी Either or Survivor
के समान है ,इस joint account में भी खाता धारकों में से कोई भी खाता संचालित कर सकता है। धारकों में से किसी एक की मौत होने पर , शेष बचे हुए खाता धारक खाते को संचालित करना जारी रख सकते हैं या शेष राशि और ब्याज को स्थानांतरित कर सकते हैं।
यदि इस joint account में किसी व्यक्ति को Nominee बनाया गया है, तो सभी खाताधारकों की मौत के बाद, Nominee व्यक्ति को शेष राशि और ब्याज प्राप्त होगा ।

3)Former or Survivor:

इस प्रकार के joint account में केवल पहले खाताधारक को हीं खाता संचालित करने की इजाजत मिलती है ,जब पहले खाता धारक की मौत हो जाती है ,तब दूसरा joint account खाता धारक या तो खाता को संचालित कर सकता है या शेष राशि और ब्याज को स्थानांतरित कर सकता है ।
उदाहरण के लिए पति और पत्नी के इस ऑप्शन के साथ joint account खोला है और यदि पति पहला धारक है, तो केवल उसकी मृत्यु होने पर हैं पत्नी संयुक्त खाते का संचालन कर सकती है।

4) Latter or Survivor:

इस प्रकार का joint account में केवल दूसरे खाताधारक को हीं खाता संचालित करने की इजाजत मिलती है ,जब दूसरे खाता धारक की मौत हो जाती है ,तब पहले ( जीवित ) joint account खाता धारक या तो खाता को संचालित कर सकता है या शेष राशि और ब्याज को स्थानांतरित कर सकता है ।
उदाहरण के लिए पति और पत्नी के इस ऑप्शन के साथ joint account खोला है और यदि पति दूसरा धारक है, तो केवल उसकी मृत्यु होने पर हैं पत्नी संयुक्त खाते का संचालन कर सकती है।

5)Minor Account:

अपने देश में 18 वर्ष से कम आयु को नाबालिग माना जाता है ,और उनके नाम से बैंक में खाता नहीं खुल सकता ।अगर ऐसे नाबालिग अपने नाम से खाता खोलना चाहते है तो उन्हें किसी वयस्क व्यक्ति को साथ लेकर joint account खोलना होगा ।

Joint Bank Accounts के फायदे :-

1) सुविधा:

Joint bank account खाते धारकों के लिए सुविधा प्रदान करते हैं ।यदि joint account , either or survivor’ मोड में खोला गया है तो दो धारकों में से कोई भी एक , दूसरे के लिए बैंक से लेनदेन कर सकता है।आपात स्थिति में ऐसे joint account हमें कभी कभी बहुत बड़ी परेशानी से बचाता है ।उदाहरण के लिए, यदि किसी व्यक्ति का एक्सीडेंट हो गया हो और वह अस्पताल में भर्ती हो ,तब अगर पैसे की जरूरत हो ,तो ऐसी स्थिति में joint account हो तो हमें बड़ी सुविधा मिलती है ,joint account का दूसरा खाता धारक आराम से बैंक के साथ पैसे का दें लें कर सकता है । इसी प्रकार बुजुर्ग व्यक्ति जो कि बैंक आने-जाने में असमर्थ हो उसके लिये ज्वाइण्ट अकाउण्ट काफी फायदेमंद होता है।

2)अधिकारों का आसान हस्तांतरण:

Joint bank account का सबसे महत्वपूर्ण लाभ खाते के अधिकारों का हस्तांतरण है, यदि आप चाहते हैं कि आपके पति / पत्नी आपके बैंक खाते में विशेष पहुंच प्राप्त करने में सक्षम न हों, तो एक joint account में अपने लिए उचित mode चुनकर आसानी से ऐसा कर सकते है ।
वहीं दूसरी ओर आप चाहते है ,आपके मौत के बाद किसी खास व्यक्ति को ही बैंक खाता में स्वामित्व मिले ,चाहें वो कानूनी रूप से आपका उत्तराधिकारी हो या नहीं ,तो भी आपको joint account ऐसा करने की अनुमति प्रदान करता है ।
इस प्रकार हम देखते है ,की joint account में अधिकारों का हस्तांतरण बिल्कुल आपके इच्छा पर निर्भर करता है ,आप अपने अधिकार को अभी हस्तांतरित करना चाहते है या बाद में।
यह बहुत मायने रखता है अगर आप अपने पति / पत्नी, माता-पिता या बच्चों के हितों की रक्षा करना चाहते हैं तो आप उनके साथ अपना joint account बनाये ।

Joint Bank Accounts के नुकसान :-

1)ज्यादा आय कर लगने की संभावना :-

Joint account में के खासकर कामकाजी पति / पत्नी में ज्यादा कर लगने की संभावना होती है ।इसे आप के

उदाहरण से समझें ।यदि आप और आपकी पत्नी ने एक joint account खोला है। आपकी आय कर योग्य स्लैब से ऊपर है, जबकि आप में से पत्नी कर योग्य स्लैब से नीचे आती है। अगर आपके पत्नी के पास FD है जिसका ब्याज आपके joint account में जमा होता है ।तब आय कर की गणना करते समय , ब्याज से आय उस व्यक्ति की वार्षिक आय में जोड़ा जाएगा जो पहला धारक है, इसलिए यदि पहला धारक आप हैं, तो आपकी पत्नी की ब्याज आय भी आपकी आय में जोड़ दी जाती है और आपको अतिरिक्त कर चुकाना पड़ता है उस पर, जबकि वास्तव में यह आपकी पत्नी की आय है और कर योग्य सीमा से नीचे है

2)धोखाधड़ी :-

Joint account में आपसी विश्वास और भरोसा बहुत जरूरी है ।कई ऐसे मामला देखनें में आते है ,जहाँ joint account में एक धारक धन का दुरुपयोग करता है या धोखाधड़ी करता है, या सभी पैसे निकाल लेता है ।अतः ऐसी स्थिति से बचने के लिए आपसी विश्वास और भरोसा बहुत जरूरी होता है ।

3)खाते की गोपनीयता

Joint account में खाते की कोई गोपनीयता नहीं रहती ।इसमें एक हीं की सारी details तक एक से ज्यादा व्यक्ति पहुँच सकते है ।
दोस्तों ,उमीद करता हूँ ,आपको joint account क्या होता है ,joint account के प्रकार और joint account के फायदे और नुकसान क्या होते है ,जैसे प्रश्नों का जवाब मिल गया होगा ।अगर इस अंक को और उपयोगी बनाने के लिए कोई सुझाव हो तो कमेंट करें ,आपके परामर्श को भी अंक में जोड़ दूँगा।
धन्यवाद ।

Check Also

Recurring Deposit Account क्या होता है RD Account के फायदे।

  RD को  Recurring Deposit या आवर्ती जमा के नाम से भी जाना जाता है।आम भाषा में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: