Home / BANK / Recurring Deposit Account क्या होता है RD Account के क्या फायदे है

Recurring Deposit Account क्या होता है RD Account के क्या फायदे है

RD को  Recurring Deposit या आवर्ती जमा भी कहा जाता है।अगर हम बिलकुल सरल भाषा में  कहें तो RD वह बैंक एकाउंट है जिसमें हम अपने अपनी सहूलियत के अनुसार किसी भी छोटी सी राशि को हरेक महीने किसी निश्चित अवधि तक जमा करते है और बदले में बैंक हमें निर्धारित अवधि पूरा होने पर वह राशि ब्याज समेत वापस कर देता है ।

RD Account नियमित वेतनभोगी व्यक्ति के लिए सबसे ज्यादा उपयोगी है,ऐसे लोग आसानी से अपने छोटे छोटे बचत को RD एकाउंट में जमा करके एक बड़ी राशि बना लेते है ,फिर उन बड़ी रकम को FD कर देते है या फिर शेयर मार्केट में निवेश करते है या अन्य कोई अपना काम कर लेते है ।तीन खास कारण है जो नियमित वेतनधारी को RD की ओर आकर्षित करता है ,वह ये है कि आप इसमें छोटे छोटे राशि का निवेश कर सकते हो, दूसरा इस पर आपको बैंक लगभग FD के बराबर ब्याज देती है और तीसरा यह बिल्कुल सुरक्षित निवेश है ।

भारत में लगभग सभी प्रमुख बैंकों में RD account खोलनें की की सुविधा उपलब्ध हैं ।आमतौर पर इसकी अवधि 6 महीने और 10 साल के बीच होती है आप अपनी आवश्यकताओं के अनुसार कोई भी एक अवधि चुन सकतें है ।भारतीय रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों के अनुसार जब बैंक ने एक बार आपके RD account पर ब्याज दर निर्धारित कर दिया ,तो बैंक उस ब्याज दर को पूरे tenure के दौरान नहीं बदल सकती है ।

 

reccuring deposit kya hota hai

Features of Recurring Deposit

आवर्ती जमा की विशेषताएं/ लाभ
1)आवर्ती जमा योजनाओं का उद्देश्य जनता के बीच बचत की नियमित आदत पैदा करना है।आरडी खाते खोलने के लिए जमा की जाने वाली न्यूनतम राशि
अलग अलग बैंको में अलग अलग होती है। उदाहरण के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के लिए 100 रुपये है और आईसीआईसीआई या एचडीएफसी बैंक जैसे निजी क्षेत्र के बैंकों के लिए 500 रुपये से 1000 रुपये तक भिन्न भिन्न है, और अगर डाकघर के बात करें तो आप डाकघर में न्यूनतम 10 जमा करके भी RD एकाउंट खोल सकते है ।

2)आरडी आपको आपके द्वारा पूर्व निर्धारित अवधि तक ,बैंक द्वारा पूर्व निर्धारित निश्चित ब्याज दर से परिपक्वता राशि आपको प्रदान करता है ।

3)आवर्ती जमा एक सुरक्षित निवेश विकल्प है और निवेश पर वापसी की गारंटी है, जबकि अगर आप शेयर मार्केट या म्यूचुअल फंड में पैसा निवेश करते है तो आप ज्यादा मुनाफा कमा सकते हो ,लेकिन इसमें मुनाफा के साथ हानि होने की संभावना भी उतनी हीं होती है ।

4)जमा की न्यूनतम अवधि छह महीने से शुरू होती है और जमा की अधिकतम अवधि दस वर्ष होती है।आप RD एकाउंट में अपने Goal के अनुसार निवेश के लिए अल्पकालिक, मध्यम अवधि या दीर्घकालिक अवधि का चुनाव कर सकते हैं ।

5) विभिन्न अवधि के लिए RD एकाउंट पर बैंकों द्वारा दी गई ब्याज दर ,अलग अलग बैंक में भिन्न भिन्न होती है है। आम तौर पर ब्याज दर 3.5% से 8.5% सालाना होती है और आपके RD एकाउंट में तिमाही आधार पर ब्याज जमा किया जाता है ।

6)RD में आप अपने deposit के के अनुसार Loan भी ले सकते है ।बैंक आमतौर पर आपको आपके RD जमा मूल्य के लगभग 80 से 9 0% तक कि राशि बतौर loan आपको दे सकती है ।

7)RD में परिपक्वता के बाद वापसी की दरें ,आपके tenure के आधार पर भिन्न भिन्न होती हैं। आमतौर पर सर्वाधिक वापसी की दर, मध्यम अवधि की जमा के लिए मिलती है ।इसके बाद थोड़ी सी कम वापसी की दरें , लंबी अवधि के जमा के लिए मिलती है ।

8)
RD में अगर आपको कभी भी तत्काल रकम की जरूरत पड़ जाए ,तो ऐसी स्थिति में आप किसी भी समय खाते को बंद (close ) कर सकते हैं। बैंक इसके लिए एक छोटा सा शुल्क ले सकता है लेकिन जरूरत के समय पैसे की तुरंत वापसी भी RD की एक अच्छी विशेषता है ।

9)RD की एक विशेषता इसका लचीलापन है। इसमें एक व्यक्ति किसी भी समय अंतराल पर किसी भी राशि (न्यूनतम राशि से अधिक) निवेश कर सकता है। कुछ बैंक जमाकर्ता को किसी भी भी प्रकार का penalties लिए बिना एक दो किश्त छोड़ने की सुविधा भी देते हैं ।

.
10) RD में आपको अपने tenure से पहले (Premature ) या अपने tenure के बीच में ( Mid term ) में पैसे निकालने की अनुमति नहीं है। हालांकि, बैंक tenure अवधि से पहले खाते को बंद करने की अनुमति दे सकता है,लेकिन इसके लिए आपको अतिरिक्त राशि बैंक को देनी होगी ।

11)आमतौर पर, आरडी खाते के लिए न्यूनतम लॉक-इन अवधि 3 महीने होती है। यदि इस अवधि से पहले समयपूर्व निकासी की जाती है, तो खाताधारक शून्य ब्याज अर्जित करेगा और केवल जमा की गई मूल राशि बैंक द्वारा उसे वापस कर दी जाएगी।

12) लगभग सभी बैंक RD एकाउंट इसके समयपूर्व वापसी का (premature withdrawal. ) विकल्प प्रदान करते हैं। जब आप समय पूर्व वापसी करते है तो आपके ब्याज की गणना इस अवधि के आधार पर की जाएगी कि आपने कितना tenure कितना पूरा किया है। बैंक द्वारा समयपूर्व वापसी का जुर्माना भी लगाया जाता है इसलिए, आवर्ती जमा खाते में निवेश करते समय, आप ऐसे बैंक को चुनें जो ब्याज की उच्च दर प्रदान करे और साथ हीं समयपूर्व वापसी पर कम शुल्क ले ।

Premature Withdrawal(समय पूर्व निकासी )-

सबसे पहले हमें यह जानना बहुत जरूरी है ,की क्या हम जरूरत पड़ने पर अपने पैसे को RD एकाउंट से निकाल सकते है अगर पैसे निकाल सकते है तो कितने और किन condition पर। वास्तब में ये वो जानकारी है ,जिसके बारे में चाहे वो किसी भी प्रकार का निवेश हो ,हर एक निवेशक को पता होनी चाहिए ,क्योंकि आपातकालीन जरूरत कभी भी किसी को भी पर सकती है ।RD में अपने tenure पूरा होने से पहले पैसे निकालने के लिए मुख्य नियम ये है ,हालांकि अलग अलग बैंको में इसमें थोड़ी बहुत भिन्नता हो सकती है
1)आप अपने tenure पूरा होने से पहले अपने RD एकाउंट से पैसे निकाल सकते है ।यह राशि आपके द्वारा जमा की गई राशि का 50 % से अधिक नहीं होनी चाहिए ।
2)आप अपने RD से तभी पैसे निकाल सकतें है ,जब आपका RD एकाउंट कम से कम 01 साल पुराना हो तथा जिसमे कम से कम 12 मासिक किस्त जमा किया जा चुका हो ।
3)आप जितने भी पैसे निकालते है ,उसे आपको वापस बैंक को या तो किस्तों में या इकट्ठा जमा करना होगा ।

4)आपके द्वारा निकाली गई राशि पर बैंक आपसे साधारण ब्याज लेगा ।
5)आम तौर पर, RD पर हमें 6.5%- 8.5 % ब्याज सालाना मिलता है लेकिन जब हम समय पूर्व निकासी करते है तो बैंक ब्याज दर में 1 – 2 ℅ की कमी कर देता है ।जब हम समय पूर्व निकासी राशि को वापस बैंक में जमा कर देते है ,तो बैंक फिर से हमें सामान्य ब्याज दर देना शुरू कर देता है ।

6)यदि आपका tenure पूरा हो जाता है ,और आपने जो राशि बैंक से निकाली थी ,उसे देने में असफल हो जाते है ।तब बैंक आपसे ,tenure पूरा होने के बाद आपकी जितनी भी कुल राशि बनती है उसमें से आपके द्वारा निकली गई राशि को ब्याज समेत काट लेगा ।

आइए समय पूर्व निकासी को एक उदाहरण से समझते है ।मान लीजिये मैंने अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए मैंने एक RD एकाउंट खुलवाया ,जिसमें मैं हरेक महीने
1000 रूपये जमा करता हूँ ।अगर दो साल राशि जमा करने के बाद किसी आपातकालीन कारणों से मुझे पैसे की जरूरत पड़ गई ,तो मुझे कितने पैसे मिलेंगे ।
चूंकि मैंने 02 साल मतलब 24 महीने किस्त जमा किया है और मेरा एकाउंट 01 साल से पुराना है अतः मैं समय पूर्व निकासी का हकदार हो गया हूँ ।अब तक मैंने 24000 रूपये बैंक में जमा किये है ,तो बैंक से मैं अधिकतम 50 % अर्थात 12000 रुपये निकल सकता हूँ ।अब अगर मैंने 12000 रुपये निकाले तो इस राशि को या तो मैं बैंक को वापस किस्तों में जमा करना होगा या फिर अगर मेरे पास एकमुश्त राशि आ जाती है तो इसे मैं बैंक को इकट्ठा भी वापस कर सकता हूँ ।

अब अगर मुझे समय पूर्व निकासी से पहले बैंक मुझे 8.5% की वार्षिक ब्याज दर दे रही थी ,तो मेरे द्वारा 12000 रुपये निकालने के बाद बची शेष 12000 राशि पर थोड़ा कम ब्याज 7.5 % दे सकती है ।जैसे ही मैं वापस ली गई 12000 रुपये बैंक में वापस जमा करूंगा ,फिर से बैंक मुझे पहले वाली ब्याज दर 8.5 %
वार्षिक देने लगेगी ।

आपने समय पूर्व जो भी रकम निकाली है ,अगर उसे आप किस्तों में EMI पर जमा कर रहें है ,तो आपका किस्त timely जमा होना बहुत जरूरी होता है अगर आप timely EMI जमा नहीं करेंगे ,तो बैंक आपको विलंब के लिए
जुर्माना लगा सकता है। इसी तरह यदि आप लगातार 03 महीनों तक EMI नहीं दे पाते है तो बैंक आपका एकाउंट भी बंद कर सकता है ।

RD account कौन खोल सकता है

1) कोई भी बालिग व्यक्ति
2)10 साल से अधिक उम्र का कोई भी नाबालिग RD एकाउंट खोल सकता है यदि वह अपने नाम का
प्रमाण पत्र बैंक को प्रदान करता है।

3)10 वर्ष या उससे कम उम्र के बच्चें अपने अभिभावक के साथ RD एकाउंट खोल सकतें है ।
4)कोई कॉर्पोरेट, कंपनी, संगठन।
5)कोई भी सरकारी संगठन।

RD एकाउंट खोलने के लिए जरूरी दस्तावेज

 

1) बैंक फॉर्म
2)02 पासपोर्ट आकार की फोटो
3) पहचान प्रमाण और पता प्रमाण।
4)पैन कार्ड

RD खाता कैसे खोले

RD एकाउंट हम दो तरीके से यानी ऑनलाइन और ऑफ लाइन खुलवा सकतें है ।offline तरीके में हमें उपरोक्त डॉक्यूमेंट के साथ बैंक में जाकर apply करना पड़ता है ,वहीं online तरीके में हम मोबाइल बैंकिंग या इंटरनेट बैंकिंग से हम खुद हीं 02 मिनट में अपना RD एकाउंट खोल सकतें है ।

RD एकाउंट खुलवाते समय घ्यान रखने वाली बातें

दोस्तों अगर आपने एक RD एकाउंट खोलवाने का इरादा कर ही लिया है तो एकाउंट खोलवाने से पहले कुछ बातों की enquary जरूर हीं कर लें ।

1)सबसे पहले आपको जानना होगा की Best RD interest rates कौन सा बैंक आपको दे रहा है ।जहां आपको सबसे ज्यादा ब्याज दर (Interest Rate) मिले आपको वहां अपनी RD करवानी चाहिए।
2)आपको पता होना चाहिए कि अगर किसी कारणवश आप कोई किश्त देने से चुक गए तो बैंक आपसे कितना दंड लेगा ।
3) अगर RD पूरी होने से पहले आपको पैसों की जरूरत पड़ गई तो आपको पैसे कैसे और कितने मिलेंगे या अगर आपको loan मिलेगा तो उसकी ब्याज दर कितनी होगी।

अगर आप उपरोक्त बातों का पता पहले से लगा कर RD एकाउंट खुलवाएंगे ,तो निश्चित रूप से फायदे में रहेंगे ।
अब मैं उम्मीद करता हूँ कि आज के इस आर्टिकल से आप जान गए होंगे ,कि RD एकाउंट क्या होता है RD एकाउंट के क्या फायदे है ,RD एकाउंट से tenure के बीच में पैसे कैसे निकालते है इत्यादि ।दोस्तो अगर आपका कोई सुझाव या शिकायत हो तो कमेंट करें ।

Check Also

Duplicate Aadhar Card क्या होता है और इसे कैसे बनाते है

Duplicate Aadhar Card क्या होता है और इसे कैसे बनाते है

  आजकल दिनों दिन आधार का इस्तेमाल लगातार बढ़ रहा है चाहें  वो सरकारी स्कीमों, हो या …

e-pan card क्या है कैसे बनायें

e-pan card क्या है कैसे बनायें

  दोस्तों अगर आप iT Return भरना चाहते है तो आपको PAN कार्ड की जरूरत …

mAadhaar क्या है Details में जानें.

mAadhaar क्या है Details में जानें

  mAadhaar एक एंड्राइड ऐप है ,जिसे UIADI (Unique Identification Authority of India)  ने जारी …

अपना सुझाव या शिकायत यहाँ दें

error: Content कॉपी ना करें
%d bloggers like this: